बुलेट ट्रेन Video

बुलेट ट्रेन Video: भारतीयों को मिलेगी देश की पहली बुलेट ट्रेन, जानें क्या हैं इसकी खासियतें

तेज दर से विकसित देश की ओर बढ़ते हुए भारत आए दिन उपलब्धियां हासिल कर रहा है। आज हम बात कर रहे हैं केंद्र सरकार के अवेटेड प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन की, जिसके लिए सारा देश इंतजार कर रहा है। सिंतबर 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के लिए हाई-स्पीड बुलेट ट्रेन की घोषणा की थी जिसकी अधिकतर फंडिंग भारत का ‘फ्रेंड नेशन’ जापान कर रहा है। गुजरात के शहर अहमदाबाद से मुंबई के लिए चलने वाली यह ट्रेन 508 किलोमीटर की दूरी केवल 3 घंटे में तय करेगी। 350 किमी की रफ्तार से चलने वाली इस बुलेट ट्रेन की खासियत इसकी स्पीड होगी। आइए बताते हैं बुलेट ट्रेन के बारे में आपको क्या जानना चाहिए।

क्या खासियतें हैं बुलेट ट्रेन की

1. मुंबई-अहमादाब हाई-स्पीड रेल भारत की पहली बुलेट ट्रेन है।
2. इसे बनाने में करीब 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपये की लागत लगेगी।
3. ट्रेन की औसत स्पीड 320 किमी प्रति घंटा होगी और इसकी अधिकतम स्पीड 350 किमी/घंटा होगी।
4. बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए 825 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जाएगी।
5. बुलेट ट्रेन के शुरु होने के बाद यात्री मुंबई और अहमदाबाद के बीच की दूरी को केवल 3 घंटे के समय में तय कर सकेंगे।
6. 508 किमी की दूरी में से 468 किमी का ट्रैक जमीन से काफी ऊंचाई पर होगा, वहीं 27 किमी ट्रैक सुरंग के अंदर होगा और बाकी 13 किमी ट्रैक जमीन पर बनाया जाएगा।
7. एक राउंड में बुलैट ट्रेन के जरिए करीब 700 यात्री अहमदाबाद से मुंबई ट्रैवल कर सकेंगे।

कितने फंड की जरुरत

मुंबई-अहमादाब हाई-स्पीड ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है जिसके लिए जापान ने भारत को 88 हजार करोड़ रुपये का लोन दिया है। लोन पर जापान 0.1 प्रतिशत का न्यूनतम ब्याज लेगा और इसे 15 वर्षों की छूट अवधि के साथ 50 वर्षों में चुकाया जाना है।

दूरी और स्पीड

अहमदाबाद से लेकर मुंबई तक की दूरी तय करने के लिए डिजाइन की जा रही बुलेट ट्रेन 508 किमी की दूरी तय करेगी जिसे यह हाई स्पीड रेल 350 किमी/घंटा की गति से 3 घंटे में तय करेगी। जबकि यही दूरी तय करने में अब 8 घंटों का समय लगता है। यह रेल 12 स्टेशनों से गुजरेगी जिनमें मुंबई, ठाणे, विरार, बोइसर, वापी, बिलिमोरा, सूरत, भरूच, वडोदरा, आनंद, अहमदाबाद और साबरमती शामिल हैं।

कब तक होगी तैयार

बुलेट ट्रेन के तैयार होने में अभी और 4 साल का समय लग जाएगा। अनुमान है कि अगस्त 2022 तक यह पटरी पर उतरने के लिए तैयार होगी। बता दें कि 2022 में भारत को स्वतंत्रता हासिल किए 75 साल हो जाएंगे।

कौन बनाएगा बुलेट ट्रेन

इंडियन रेलवे और जापान इंटरनेशन कॉरपोरेशन एजेंसी साथ मिलकर बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर काम करेंगे।

दिसंबर 2018 तक निपट जाएगा जमीन के अधिग्रहण का काम
रेल मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि हाई-स्पीड ट्रेन के लिए जमीन अधिग्रहण का कार्य इसी साल दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जमीन अधिग्रहण में समय लगने के बावजूद प्रोजेक्ट को समय पर पूरा कर लिया जाएगा।

किन देशों के पास हैं हाई-स्पीड ट्रेन्स

दुनिया भर में कई देशों के पास हाई-स्पीड ट्रेन्स हैं जिनमें जापान, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, चाइना, फ्रांस, इटली, टर्की, यूएस, यूके, रुस, स्पेन, स्वीडन, पौलेंड आदि शामिल हैं।

बुलेट ट्रेन video

Team HOT HINDI

Add comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Your Header Sidebar area is currently empty. Hurry up and add some widgets.